एसीएसआईआर (वैज्ञानिक एवं नवोन्मेषी अनुसंधान अकादमी) - सीएसआईआर की अकादमी

सीएसआईआर के कार्यकरण की समीक्षा करने के लिए 2004 में गठित केलकर समिति से एसीएसआईआर की स्थापना जुड़ी हुई है। इस समिति की रिपोर्ट ने संस्तुति की है कि सीएसआईआर प्रयोगशालाओं को अनुसंधान विश्वविद्यालय की भूमिका निभाने और मानित विश्वविद्यालय का दर्जा मांगने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। तत्पश्चात् 2010 में एसीएसआईआर स्थापित की गई थी (17 जुलाई, 2010 के भारत सरकार संकल्प द्वारा) और संसद के एक अधिनियम द्वारा भारत के राजपत्र (दिनांकित 7 फरवरी, 2012) के माध्यम से उसे औपचारिक रूप दिया गया था और 3 अप्रैल, 2012 को उसे एक राष्ट्रीय महत्व की संस्था के रूप में अधिसूचित किया गया था।

एनजीआरआई में एसीएसआईआर पृथ्वी विज्ञान के क्षेत्र (विशेष रूप से भूभौतिकी और भूविज्ञान) में पर्याप्त कार्य अनुभव रखने वाले वैज्ञानिकों द्वारा शिक्षण और अनुसंधान के माध्यम से उन्नत ज्ञान को प्रसारित करने के लक्ष्य से काम करती है। जनता के सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, बौद्धिक और शैक्षणिक कल्याण पर असर करने वाले प्राकृतिक विज्ञानों में उभरते क्षेत्रों और अंतर्विषयी अनुसंधान पर बल दिया जाता है। अनुसंधान एवं विकास प्रक्रियाओं में नवप्रवर्तन के लिए उचित उपाय सही माहौल और उपयुक्त उद्योगों के साथ संयोजनों और भारत के अन्दर अथवा बाहर स्थित प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों और संस्थाओं के साथ सहयोगों के लिए अवसर उपलब्ध कराने के जरिए प्रदान किए जाते हैं।

प्रवेश प्रक्रिया

एसीएसआईआर में wordपीएचडी (विज्ञान) wordप्रवेश के लिए आवेदन प्रपत्र  word

एसीएसआईआर विवरणिका  pdf
एसीएसआईआर के पीएचडी पाठ्यक्रम के अगस्त 2018 सत्र के लिए आवेदन पत्र  pdf

पीएच.डी पाठ्यक्रम में दो सत्रकों में छात्रों को प्रवेश दिया जाता है, अर्थात् शरद् एवं वसंत में जो कि क्रमशः अगस्त और जनवरी से आरंभ होते हैं।

पात्रता:

उम्मीदवार भौतिक विज्ञान (अर्थात् भूविज्ञान, भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित) की किसी भी शाखा में प्रथम श्रेणी के साथ एम.एससी/एम.एससी टेक/एम.टेक उपाधि रखनी चाहिए और कनिष्ठ अनुसंधान शिक्षावृत्ति (जेआरएफ) के लिए लिखी जाने वाली सीएसआईआर यूजीसी (नेट) परीक्षा की अर्हता रखनी चाहिए। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग इनस्पाइर योजना सहित विविध निधि प्रदान करने वाले अभिकरणों से छात्रवृत्तियाँ प्राप्त करने वाले भी आवेदन कर सकते हैं। कम से कम एक वर्ष अनुसंधान अनुभव रखने वाले सीएसआईआर प्रयोगशालाओं में कार्यरत परियोजना सहायक भी पात्र हैं।

भावी आवेदकों को भारत के प्रमुख समाचार पत्रों में और एनजीआरआई एवं सीएसआईआर की वेबसाइटों में अधिसूचनाएं देखनी चाहिए।

आवेदनों को इस लिंक (http://acsir.res.in) या अधिसूचना में विनिर्दिष्ट किसी भी अन्य लिंक का उपयोग कर ऑनलाइन प्रस्तुत किया जाना चाहिए। सीएसआईआर प्रयोगशालाओं के परियोजना सहायक को भी अपने अनुसंधान उद्देश्यों और संबंधित परियोजना प्रमुख की संस्तुति को सीधे समन्वयक एसीएसआईआर (सीएसआईआर-एनजीआरआई) को प्रस्तुत करना होगा। आवेदन पत्र प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि अधिसूचना में दी जाएगी।

चयन लघु सूचीबद्ध उम्मीदवारों के लिए आयोजित किए जाने वाले एक साक्षात्कार के माध्यम से किया जाएगा। साक्षात्कार में उपस्थित होने के लिए उम्मीदवारों को कोई यात्रा भत्ता / दैनिक भत्ता भुगतान नहीं किया जाएगा।

पृष्ठ अंतिम अपडेट: 25-04-2019