संस्थान की चालू परियोजनाएँ निम्नानुसार वर्गीकृत हैं।

 

शीर्षक: गैस हाइड्रेट्स अन्वेषण तथा उसके दोहन के लिए प्रौद्योगिकी विकास पर अध्ययन
उद्देश्य:

* गैस हाइड्रेट्स के लिए संभाव्य मंडलों का चित्रण करना।

* गैस हाइड्रेट्स भंडारों का लक्षण वर्णन करना।

* पेट्रोलियिम तंत्र को समझना।

* संसाधन संभाव्यता का मूल्यांकन करना।

* अभिपुष्टि के लिए जगहों को संस्तुत करना।
प्रायोजक: राष्ट्रीय समुद्र प्रौद्योगिकी संस्थान (पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय)
अवधि: 04/2004 – 06/2013             03/2020 तक बढ़ाई गई।
प्रतिभागी: डॉ. कालाचाँद साँई, डॉ. महेश्वर ओझा, डॉ. एन. सत्यवाणी
   
शीर्षक: भारत की दामोदर द्रोणी का शेल गैस संभाव्यता मूल्यांकन
उद्देश्य:

* शेल गैस अन्वेषण के लिए और दामोदर द्रोणी की संबद्ध बनावट संबंधी विशेषताओं के लिए भी 3 विमीय उच्च–विभेदन भूकंपी सर्वेक्षण।

* शेल संस्तरों का सीमांकन करने के लिए 3 विमीय उथला भूकंपी सर्वेक्षण, भू–रासायनिक एवं शैलभौतिकीय मापों का ड्रिलिंग करना।
प्रायोजक: सेंट्रल माइन प्लानिंग एंड डिजाइन इन्स्टीट्यूट (सी एम पी डी आई)
अवधि: 04/2013 - 03/2016                05/2017 – 11/2018 तक बढ़ाई गई।
प्रतिभागी: डॉ. एच.वी.एस. सत्यनारायणा, डॉ. एम.एस. कल्पना, श्री जी.एस. श्रीनिवास, श्री जी. वासुदेवन, डॉ. डी. मैसय्या, श्री के.एन.एस.एस.एस. श्रीनिवास, श्री पी. पवन किशोर, श्री एम. श्रीहरि
   
शीर्षक: इण्डियन कोलफील्ड्स के लिए कोयला संस्तर मेथैन (सी बी एम) निक्षेप आकलन
उद्देश्य: गोंडवाना कोयला क्षेत्रों की मौजूदा परिस्थितियों के अंतर्गत कोयला संस्तर मेथैन खंडों का विभाजन करने संबद्ध अनिश्चितताओं को कम करने के लिए कोयला संस्तर मेथैन निक्षेपों के आकलन के लिए विश्वसनीय कार्य पद्धति का विकास करना।
प्रायोजक: सेंट्रल माइन प्लानिंग एंड डिजाइन इन्स्टीट्यूट (सी एम पी डी आई)
अवधि: 09/2014 - 08/2017 से 03/2019 तक बढ़ाई गई।
प्रतिभागी: डॉ. एच.वी.एस. सत्यनारायणा, डॉ. डी. मैसय्या, श्री के.वी.वी. शेषगिरी, श्री जी.एस. श्रीनिवास, श्री के.एन.एस.एस.एस. श्रीनिवास, श्री पी. पवन किशोर, श्री बी.आर.के. वेंकटपति, श्री एम. श्रीहरि राव, सुश्री के. धनम, श्री जी. सुरेश
   
शीर्षक: नितलस्थ फोरैमिनीफेरीय, भूरसायनिक और भूभौतिकीय अध्ययनों का उपयोग करके कृष्णा-गोदावरी (केजी) द्रोणी, बंगाल की खाड़ी में गैस हाइड्रेट्स का लक्षण वर्णन, परिमाणन और उत्पत्ति का पता लगाना।
उद्देश्य: भारतीय खनि विद्यापीठ, धनबाद और वाडिया हिमालय भूविज्ञान संस्थान, देहरादून द्वारा की गई खोज के भूवैज्ञानिक, भूरसायनिक एवं सूक्ष्मजैविक परिणामों को स्पष्ट करने वाले एक व्यापक नमूना बनाने और कृष्णा गोदावरी द्रोणी में गैस हाइड्रेट्स की उत्पत्ति पर प्रकाश डालने के लिए भूभौतिकीय अध्ययन को आगे बढ़ाना।
प्रायोजक: पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय
अवधि: 04/2015 - 03/2018
प्रतिभागी: डॉ. कालाचाँद साँई
   
शीर्षक: बालुमय और मृत्तिका वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड एवं मेथैन हाइड्रेट प्रावस्था स्थायित्व: प्रयोगशाला अध्ययन
उद्देश्य:

* इस अध्ययन में प्रस्तावित व्यवस्थित प्रयोग सरंध्र माध्यम में CH4 एवं Co2 दोनों पर हाइड्रेट बनने / वियोजन बलगतिकी पर कुछ प्रकाश डालेंगे।

* सरंध्र माध्यम में मेथैन एवं कार्बन डाइऑक्साइड हाइड्रेट बनना / वियोजन बलगतिकी।  

* विभिन्न दाब, ताप अवस्थाओं में हाइड्रेट्स का स्थायित्व।

* प्राकृतिक क्रोडों में CH4 हाइड्रेट्स संतृप्ति का अध्ययन।
प्रायोजक: तेल उद्योग विकास बोर्ड
अवधि: 07/2015 - 07/2017              01/2019 तक बढ़ाई गई।
प्रतिभागी: डॉ. पी.एस.आर. प्रसाद

 

पृष्ठ अंतिम अपडेट: 13-07-2018