प्राकृतिक संसाधन

मानव सभ्यता का उद्भव जल स्रोतों के लिए नदियों एवं झीलों, भोजन के लिए जंगलों, चकमक और कच्चे हथियारों के लिए पत्थरों, आग के लिए लकड़ी जैसे प्रकृति के उपहारों से हो पाया और उन्हीं के कारण फली-फूली। पृथ्वी माँ के संसाधनों से सभ्यता का संबंध हमारे अस्तित्व के सबसे मूलभूत तथ्यों में से एक है; भूवैज्ञानिक और भूभौतिकीय अध्ययन मानव प्रगति के हर प्रयास में उपयोग करने के लिए जल, जीवाश्म ईंधन और नवीकरणीय ऊर्जा स्रोतों, धात्विक एवं अधात्विक खनिजों जैसे प्राकृतिक संसाधनों के अन्वेषण और दोहन में एक प्राथमिक भूमिका निभाते हैं। सीएसआईआर-एनजीआरआई का विभिन्न भूवैज्ञानिक भूभागों में भूजल की खोज के लिए एक समर्पित ध्येय है, तेल, गैस और गैस हाइड्रेटों के लिए मध्यजीवी अवसादों के लिए अन्वेषण अध्ययन का लंबा इतिहास है और किंबरलाइट पाइपों से यूरेनियम तक खनिज अन्वेषणों में कई ऐतिहासिक उपलब्धियाँ हैं।

 

 

पृष्ठ अंतिम अपडेट: 12-04-2018