इस ग्रह, जो कि मानवता का आवास है, के रहस्यों को उसकी उथली एवं गभीर संरचना और लघु एवं दीर्घकालिक प्रक्रियाओं, जो कि इस आवास के निरंतर क्रमविकास के लिए कारण बनती हैं, के संबंध में पता करने के लिए अनुसंधान करने के अधिदेश के साथ, इस संस्था की अनुसंधान दिशाएँ तीन व्यापक पहलुओं को सम्बोधित करेंगी: भूगतिकी, भूकंप जोखिम, प्राकृतिक संसाधन।

अनुसंधान जांच परिणाम प्रशासकों और नीति निर्माताओं, प्रभावशील व्यक्तियों और जनता को सूचित किए जाते हैं ताकि देश के संपोषणीय विकास के लिए भू-संसाधनों की उपलब्धता और उपयोग के बारे में विचारपूर्ण निर्णयों को और प्राकृतिक खतरों के प्रति बेहतर तैयारी तथा प्रतिरोध क्षमता को लागू किया जा सके। सीएसआईआर-एनजीआरआई, उपर्युक्त विषयों से तालमेल बिठाते हुए अपने वैज्ञानिकों के सामूहिक अनुभव एवं विशेषज्ञता के आधार पर और राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय भागीदारों के सहयोग से देश में पृथ्वी विज्ञान के मुख्य पहलुओं को संबोधित करने वाले सामयिक विषयों पर केंद्रित लघु और मध्यम अवधि की अनुसंधान परियोजनाएँ संचालित करता है।

पृष्ठ अंतिम अपडेट: 07-04-2018