वै.औ.अ.प.-राष्ट्रीय भूभौतिकीय अनुसंधान संस्थान भारत सरकार के "कौशल भारत" मिशन को लागू करने को प्राथमिकता देता है और उद्योग में कार्यरत स्‍टाफ और विश्वविद्यालय/महाविद्यालय संकायों के अलावा स्नातकोत्तर बे-रोजगार युवाओं के लिए कई सीएसआईआर एकीकृत कौशल पहल कार्यक्रमों को आरंभ किया है। इन पाठ्यक्रमों का मुख्य लक्ष्य विभिन्न राष्ट्रीय कौशल अर्हता फ्रेमवर्क (एनएसक्यूएफ) में विविध क्षेत्रों में प्रशिक्षण देने / कौशल बढ़ाने के माध्यम से विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में वर्तमान और उभरते हुई उद्योग आवश्यकताओं के लिए प्रासंगिक उच्च-गुणवत्ता वाले कुशल कार्यबल का सृजन करना है।

सीएसआईआर-एनजीआरआई निम्नलिखित कौशल बढ़ाने के / प्रशिक्षण पाठ्यक्रम चला रहा है:

(i) भूजल अन्वेषण और प्रबंधन,

भूजल अन्वेषण और प्रबंधन पर प्रशिक्षण पाठ्यक्रम Pdf size:( 0.68 MB)

(ii) संदूषित मृदा एवं भूजल का मूल्यांकन

संदूषित मृदा एवं भूजल का मूल्यांकन पर प्रशिक्षण पाठ्यक्रम Pdf size:( 0.32 MB)

“संदूषित मृदा एवं भूजल का मूल्यांकन पर प्रशिक्षण पाठ्यक्रम” पर प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए लघु-सूचीबद्ध उम्मीदवारों की सूची Pdf size:( 0.16 MB)

(iii) विश्लेषणात्मक भूरसायन विज्ञान पर उन्नत प्रशिक्षण कार्यक्रम

विश्लेषणात्मक भूरसायन विज्ञान पर उन्नत प्रशिक्षण कार्यक्रम पर प्रशिक्षण कार्यक्रम Pdf size:( 2.15 MB)

“विश्लेषणात्मक भूरसायन विज्ञान पर उन्नत प्रशिक्षण कार्यक्रम” पर प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए लघु-सूचीबद्ध उम्मीदवारों की सूची Pdf size:( 0.4 MB)

इस तरह के पाठ्यक्रम समय-समय पर वै.औ.अ.प.-रा.भूभौ.अ.सं. की वेबसाइट पर घोषित किए जाएंगे और ऑनलाइन आवेदन पत्र उपलब्ध कराए जाएंगे। चयन आवेदन पत्रों की संख्या, उपलब्ध संसाधनों, आवेदकों की पृष्ठभूमि, पूर्व में लिए गए प्रशिक्षणों का इतिहास आदि के मानदंडों के आधार पर किया जाएगा, जिसका विवरण संबंधित विज्ञापनों में शामिल किया जाएगा। अधिक जानकारी के लिए ई-मेल: skills@ngri.res.in के माध्यम से कौशल विकास – रा.भूभौ.अ.सं. से संपर्क करें।

पृष्ठ अंतिम अपडेट: 05-04-2019