भूकंप विज्ञान

भूकंपनीयता में प्रतिमानों का पता करने, भूकंपी जोखिम मानचित्र तैयार करने और भारतीय क्षेत्र की पृथ्वी संरचना तथा विवर्तनिकी को स्पष्ट करने के लिए भारत में और विश्वभर में उत्पन्न होने वाले भूकंपों के भूकंपी अभिलेख एनजीआरआई में अध्ययन किए जाते हैं। वर्ष 1965 में, एनजीआरआई परिसर में एक भूकंपवैज्ञानिक वेधशाला स्थापित की गई जो कि भारतीय प्रयद्वीपीय शील्ड के केंद्र में पहली भूकंपवैज्ञानिक वेधशाला है। भारतीय उपमहाद्वीप में अनेक भूकंपों की उद्गमकेंद्री क्रियाविधियाँ प्राप्त की गई हैं। भूकंपनीयता के आंकड़ों के आधार पर भारतीय एवं आस-पास क्षेत्रों के लिए भूकंपी मंडलन मानचित्र तैयार किए गए। एनजीआरआई ने भारत के विभिन्न भौमकीय / विवर्तनिक भूभागों में निष्क्रिय भूकंपी प्रयोग करके स्थलमंडलीय संरचना का मानचित्रण करना आरंभ किया। एनजीआरआई में भूकंप पूर्वगामी एवं सुनामी प्रतिरूपण अध्ययन किए जा रहे हैं।